Chandra Grahan 2022 Update : किन–किन देशों में कब और कहां दिखाई देगा चंद्र ग्रहण ? यहां से जानें सभी सूतक काल का समय और सावधानियां

Chandra Grahan 2022 Update : किन–किन देशों में कब और कहां दिखाई देगा चंद्र ग्रहण ? यहां से जानें सभी सूतक काल का समय और सावधानियां

Latest Updates

Chandra Grahan 2022 : समस्त देशवासियों को अगर मालूम ना हो तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वर्ष 2022 का आखरी और दूसरा चंद्र ग्रहण आज यानी की 8 नवंबर 2022 को लगने जा रहा है तो आप सभी लोगों को बता दें कि भारत में आज का यह चंद्र ग्रहण पूर्ण रूप से देश के पूरी भागो और आंशिक ग्रहण शेष राज्यों में देखने को मिलेगा आपको बता दें कि

 भारत देश में चंद्र ग्रहण नजर आने के कारण सूतक काल मान्य होगा आप सभी तमाम देशवासियों को आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चंद्र ग्रहण लगने के मुख्य कारण क्या होता है तो जानिए जब सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी आ जाती है तो बीच में आने की वजह से चंद्र ग्रहण लग जाता है

 इस वर्ष का अंतिम याने की आखिरी चंद्र ग्रहण मेष राशि में लगने जा रहा है तो सभी लोग चंद्र ग्रहण से संबंधित पूरी जानकारी जैसे की चंद्र ग्रहण में क्या-क्या करना चाहिए और क्या नहीं इन सभी बातों के बारे में जानने के लिए इस पोस्ट को ध्यान पूर्वक अंत तक पूरा पढ़ें तथा इस वेबसाइट से जुड़े रहे!

BPSC 67th Prelims Result 2022 Out Now : bpsc.bih.nic.in Cut Off, Merit List

भारत देश में चंद्र ग्रहण कब और कितने बजे से लगेगा?

जैसा कि अगर आप सभी लोगों को मालूम ना हो तो आपको बता दें कि यह चंद्रग्रहण वर्ष 2022 का आखरी चंद्र ग्रहण होने वाला है यह चंद्रग्रहण आज यानी कि 8 नवंबर 2022 को शाम के 5:20 से शुरू होगा जोकि शाम 6:20 तक रहेगा यानी कि शाम 6:20 के बाद यह चंद्र ग्रहण समाप्त हो जाएगा

 इस चंद्रग्रहण का सूतक काल 9 घंटे पहले से ही शुरू हो जाएगा Chandra Grahan 2022 यानी कि इसका सूतक काल 9 घंटे पहले ही लग जाएगा और चंद्रग्रहण शाम को लगेगा चंद्र ग्रहण से संबंधित और भी जानकारी के लिए लगातार इस वेबसाइट से जुड़े रहे!

भारत के किन-किन शहरों में चंद्र ग्रहण देखने को मिलेगा जानें यहां से?

देश के तमाम लोगों को बता दे की भारत देश में इस बार का यानी कि वर्ष 2022 का अंतिम यानी की आखिरी वह दूसरा चंद्र ग्रहण 8 नवंबर 2022 को लगने वाला है यह चंद्र ग्रहण भारत के विभिन्न शहरों में देखने को मिलेगा जैसे कि गुवाहाटी, रांची, पटना, सिलिगुड़ी और कोलकाता आदि समस्त जगहों पर देखने को मिलेगा यह चंद्रग्रहण भारत की राजधानी दिल्ली में भी नजर आएगा Chandra Grahan 2022

तो आपको बता दें कि चंद्र ग्रहण भारत में दिखने के कारण इस समय अवधि में विशेष सावधानी बरतनी होगी यानी कि किसी भी देशों में चंद्र ग्रहण के दौरान क्या क्या सावधानियां बरतनी है ताकि हमें किसी प्रकार की कोई दिक्कत ना हो तो उसके बारे में संपूर्ण जानकारी आगे बताई गई है तो सभी लोग इस पोस्ट को लगातार पढ़ते रहे और चंद्रग्रहण संबंधित सभी जानकारी पाएं!

Bihar Board Matric Inter Dummy Admit Card 2023 Live Download : मात्र 2 सेकेंड में मेट्रिक इंटर प्रवेश पत्र डाउनलोड करें @biharboardonline.com

पूरे दुनिया में चंद्र ग्रहण कहां–कहां नजर आएगा ?

समस्त देश और राज्य के सभी लोगों को बता दें कि यह चंद्र ग्रहण विश्व के उत्तरी/पूर्वी यूरोप, एशिया, ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी अमेरिका, दक्षिणी अमेरिका के अधिकांश क्षेत्र पेसिफिक, अटलांटिक, हिंद महासागर, आर्कटिक और अंटार्कटिका के क्षेत्रों में भी नजर आएगा तो सभी लोग सावधानियां बरतें हुए

चंद्रग्रहण को देखें Chandra Grahan 2022 अन्यथा फिर आपके पास चंद्रग्रहण देखने के लिए कोई खास वस्तु नहीं है तो आप इस चंद्रग्रहण को ना देखें वरना आप खतरे में भी पड़ सकते हैं!

वर्ष 2022 में लगने वाले चंद्र ग्रहण का सूतक काल कितने बजे से शुरू होगा यहां से जानें?

सभी लोगों को बता दे की वर्ष 2022 में लगने वाले आखरी और दूसरा चंद्र ग्रहण का सूतक काल 9 घंटे पहले से ही शुरू हो जाएगा यानी कि 8 नवंबर 2022 को जो चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है उसका सूतक काल सुबह 9: 21 से शुरू हो जाएगा और यह चंद्रग्रहण शाम के 5:20 से शुरू होगा

जो कि 6:20 पर खत्म होगा Chandra Grahan 2022 तो सभी लोग इस चंद्र ग्रहण के बारे में पूरी जानकारी आगे की पैराग्राफ में पाएं की चंद्र ग्रहण में क्या क्या सावधानियां बरतनी चाहिए और क्या क्या कार्य चंद्रग्रहण में नहीं करना चाहिए!

RRB Group D Result 2022 Download Now : Scorecard @indianrailways.gov.in

सभी लोग सूतक काल के दौरान इन सभी बातों का ध्यान जरूर रखें?

👉 आप सभी लोगों को बता दें कि धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक सूतक काल के समय को आमतौर पर शुभ मुहूर्त माना जाता है यानी कि खासतौर पर ऐसे समय को अशुभ माना जाता है सूतक काल के समय में सभी शुभ कार्य करना वर्जित होता है Chandra Grahan 2022 आपको बता दें कि सूतक काल का ग्रहण खत्म हो जाने के बाद सभी हिंदू धर्म के धर्म स्थलों को घरों को फिर से पवित्र किया जाता है और लोग ग्रहण खत्म होने के बाद स्नान भी करते हैं!

👉 दूसरे में आप सभी को बता दे कि सूतक काल के समय में लोगों को भोजन नहीं करना चाहिए तथा इसके साथ ही साथ जल का भी सेवन नहीं करनी चाहिए यानी कि पानी नहीं पीना चाहिए लेकिन लोग इतने देर तक प्यासे नहीं रख पाते हैं इसी कारण से पानी पी लेते हैं तथा आपको बता दें कि किसी प्रकार का ग्रहण लगने से पहले चाहे वह चंद्र ग्रहण हो या सूर्य ग्रहण अगर लोगों को पानी पीना होता है तो वह ग्रहण से पहले जिस पे बर्तन में पीने के लिए जल रखते हैं उसमें कुशा और तुलसी के कुछ पत्ते डाल देने चाहिए!

👉 सभी लोगों को बता दें कि ग्रहण के बाद पीने के पानी को बदल देना चाहिए यानी कि पानी पीने के बर्तन में दुसरा पानी भर कर रखना चाहिए अनेक वैज्ञानिक शोधों से भी यह सिद्ध हो चुका है कि ग्रहण के समय मनुष्य की पाचन शक्ति बहुत शिथिल हो जाती है ऐसे में यदि उनके पेट में दूषित अन्न या पानी चला जाएगा तो उनके बीमार होने की संभावना बढ़ जाती है!

👉 सभी महिलाओं के लिए इस खास बात का ध्यान होना चाहिए कि ग्रहण के समय यानी चंद्र ग्रहण या सूर्य ग्रहण किसी भी प्रकार की ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओं को ग्रहण की छाया आदि से विशेष रूप से बच कर के रहना चाहिए नहीं तो आपके सेहत और बच्चे पर इसका खास असर पड़ सकता है!

Chandra Grahan Important Links 2022

Nasa Website Click here
ISRO Website Click here
Home Page Click Here
Join Telegram Click Here

 

Disclaimer :– इस पोस्ट में दी गई सभी जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते हैं कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें क्योंकि यह सभी जानकारियां इंटरनेट के माध्यम से ली गई है इसलिए यह जानकारी सही और गलत भी हो सकती है तो इसके लिए यह वेबसाइट targetcourse.net जिम्मेवार नहीं होगा!

चंद्र ग्रहण से संबंधित और भी अधिक जानकारी के बारे में जाने के लिए समस्त देशवासियों हमारे Telegram Channel और Facebook Group से जुड़े!

Sahara India Money refund : सहारा इंडिया निवेशकों का भुगतान शुरू, यहां से चेक करें अपना पेमेंट स्टेटस सभी का पैसा आ गया

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.